AI News World India

Search
Close this search box.

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने वाक् एवं श्रवण बाधित दिव्यांगों की सहायता के लिए साइनएबल कम्युनिकेशंस के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (डीईपीडब्ल्यूडी) ने वाक् और श्रवण बाधित दिव्यांगों की सहायता के लिए साइनएबल कम्युनिकेशंस के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। यह समझौता ज्ञापन वाक् और श्रवण बाधित दिव्यांगों को सहायता प्रदान करने में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम का प्रतीक है।

इस समझौता ज्ञापन का उद्देश्य दृष्टिबाधित और श्रवणबाधित दिव्यांगों के लिए सम्पर्क एवं पहुंच को बढ़ाना है। वर्तमान में, विभिन्न विभागीय संगठन अलग-अलग हेल्पलाइन नंबरों का उपयोग करते हैं, जिससे उपयोगकर्ता के अनुकूल किसी एक नम्बर को केंद्रीय रूप से शॉर्ट कोड हेल्पलाइन नंबर बनाना महत्वपूर्ण हो जाता है। दिव्यांगजनों के लिए राष्ट्रीय स्तर की हेल्पलाइन, शॉर्ट कोड-14456, 8 जनवरी, 2024 को इंटरनेशनल पर्पल फेस्ट, गोवा में लॉन्च की गई थी। अली यावर जंग नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पीच एंड हियरिंग डिसेबिलिटीज (दिव्यांगजन) (एवाईजेएनआईएसएचडी (डी))- ने 27 जनवरी, 2024 को निम्नलिखित सुविधाओं के साथ हेल्पलाइन सेवाएं शुरू कीं हैं:

– दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा उपलब्ध कराया गया संक्षिप्त टोल फ्री कोड: 14456,

– बेटॉकिटेक-चेन्नई द्वारा प्रदत्त उन्नत क्लाउड-आधारित इन-वेहिकल वीडियो रिकॉर्डिंग सिस्टम (आईवीवीआरएस)

– इसे एवाईजेएनआईएसएचडी (डी)-मुंबई में स्थापित किया गया और यह सीडीएसी-पुणे द्वारा वर्चुअल मशीन पर आधारित होगा

– अतिरिक्त चैनल और पहले से -रिकॉर्ड की गई आवाज में 21 दिव्यांगताओं के बारे में जानकारी

– अंग्रेजी और हिंदी में सहायता के लिए 6 कॉल सेंटरों पर मैप की गई आईवीआरएस सामग्री

वाक् और श्रवण बाधित दिव्यांगों की सहायता के लिए, साइनएबल कम्युनिकेशंस सहयोग कॉर्पोरेट सामजिक उत्तरदायित्व वित्तपोषण (सीएसआर फंडिंग) के माध्यम से भारतीय सांकेतिक भाषा (आईएसएल) दुभाषिए प्रदान करेगा। इसके लिए हेल्पलाइन सप्ताह के सभी दिनों में सुबह 9:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक संचालित की जाएगी ।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज