AI News World India

Search
Close this search box.

सभी पेंशन वितरण प्राधिकरणों को केन्द्र सरकार के पेंशनभोगियों द्वारा डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जमा कराने के लिये 100 प्रतिशत संतुष्टि दृष्टिकोण अपनाना होगा

पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने पेंशन वितरण करने वाले बैंकों, मंत्रालयों/विभागों, पेंशनभोगी कल्याण संघों, यूआईडीएआई, एमईआईटीवाई के साथ मिलकर देशभर में 100 शहरों में 602 स्थानों पर 1-30 नवंबर 2023 के दौरान राष्ट्रव्यापी डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र (डीएलसी) अभियान 2.0 का आयोजन किया। डीएलसी अभियान 2.0 के दौरान चेहरा सत्यापन प्रौद्योगिकी का व्यापक तौर पर उपयोग किया गया जिससे प्रतीक्षा समय में उल्लेखनीय कमी आई।

सभी पेंशनभोगी आसानी से अपना जीवन प्रमाणपत्र जमा करा सकें यह सुनिश्चित करने के लिये सभी पेंशन वितरण प्राधिकरणों को निर्देश जारी किये गये हैं कि वह 100 प्रतिशत संतुष्टि दृष्टिकोण अपनाते हुये सभी पेंशनभोगियों की अद्यतन डीएलसी स्थिति से अपवाद सूची तैयार करें ताकि शेष पेंशनभोगियों से भी जीवन प्रमाणपत्र सौंपने के लिये विभिन्न माध्यमों से संपर्क साधा जा सके। जो पेंशनभोगी स्वयं डीएलसी उपयोग में सक्षम नहीं हैं और चलने फिरने में असमर्थ हैं उनके दरवाजे तक बैंकिंग सुविधायें पहुंचाकर अथवा बैंक अधिकारी भेजकर संपर्क किया जाना चाहिये। परिणामस्वरूप, आज की स्थिति के अनुसार, कुल 1.38 करोड़ डीएलसी बनाये जा चुके हैं जिसमें से 43.19 लाख डीएलसी केन्द्र सरकार के पेंशनभोगियों के हैं।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज