AI News World India

Search
Close this search box.

वित्तीय वर्ष 2024-25 में माल और सेवाओं का कुल निर्यात 6.88 प्रतिशत  की मजबूत वृद्धि के साथ प्रारम्‍भ हुआ; अप्रैल 2024 में 64.56 अरब अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान

अप्रैल 2024 में भारत का कुल निर्यात (माल और सेवाएं संयुक्त) 64.56 अरब अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है, जो अप्रैल 2023 की तुलना में 6.88 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्शाता है। अप्रैल 2024 में कुल आयात (माल और सेवाएं संयुक्त) 71.07 अरब अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है, जो अप्रैल 2023 की तुलना में 12.78 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्शाता है।

माल व्यापार

  • अप्रैल 2024 में माल निर्यात 34.99 अरब अमेरिकी डॉलर था, जबकि अप्रैल 2023 में यह 34.62 अरब अमेरिकी डॉलर था।
  • अप्रैल 2024 में माल आयात 54.09 अरब अमेरिकी डॉलर था, जबकि अप्रैल 2023 में यह 49.06 अरब अमेरिकी डॉलर था।
  • अप्रैल 2024 में गैर-पेट्रोलियम और गैर-रत्न एवं आभूषण निर्यात 26.11 अरब अमेरिकी डॉलर था, जबकि अप्रैल 2023 में यह 25.77 अरब अमेरिकी डॉलर था।
  • अप्रैल 2024 में गैर-पेट्रोलियम, गैर-रत्न एवं आभूषण (सोना, चांदी और कीमती धातु) का आयात 32.72 अरब अमेरिकी डॉलर था, जबकि अप्रैल 2023 में यह 32.13 अरब अमेरिकी डॉलर था।
सेवा व्यापार
  • अप्रैल 2024* के लिए सेवाओं के निर्यात का अनुमानित मूल्य 29.57 अरब अमेरिकी डॉलर है, जबकि अप्रैल 2023 में यह 25.78 अरब अमेरिकी डॉलर था।
  • अप्रैल 2024* के लिए सेवाओं के आयात का अनुमानित मूल्य 16.97 अरब अमेरिकी डॉलर है, जबकि अप्रैल 2023 में यह 13.96 अरब अमेरिकी डॉलर था।
  • माल निर्यात में, 30 प्रमुख क्षेत्रों में से 13 ने पिछले वर्ष की समान अवधि (अप्रैल 2023) की तुलना में अप्रैल 2024 में सकारात्मक वृद्धि प्रदर्शित की। इनमें इलेक्ट्रॉनिक सामान (25.8 प्रतिशत), चाय (25.74 प्रतिशत), कार्बनिक और अकार्बनिक रसायन (16.75 प्रतिशत), कॉफी (15.87 प्रतिशत), तंबाकू (13.22 प्रतिशत), मसाले (12.27 प्रतिशत ), दवाएं और फार्मास्यूटिकल्स (7.36 प्रतिशत), सूती धागा/फैब्स/मेड-अप्स, हथकरघा उत्पाद आदि (6.65 प्रतिशत), कालीन (5.64 प्रतिशत ), अनाज से बने व्यंजन और विविध प्रसंस्कृत वस्तुएं (5.33 प्रतिशत), पेट्रोलियम उत्पाद (3.1 प्रतिशत), प्लास्टिक और लिनोलियम (2.99 प्रतिशत ) और हस्तशिल्प सहित हाथ से बने कालीन (2.36 प्रतिशत) शामिल हैं।
  • माल आयात में, 30 प्रमुख क्षेत्रों में से 14 ने अप्रैल 2024 में नकारात्मक वृद्धि प्रदर्शित की। इनमें सल्फर और अनरोस्टेड आयरन पाइराइट्स (-71.75 प्रतिशत ), मोती, कीमती और अर्ध-कीमती पत्थर (-21.12 प्रतिशत), कपास कच्चा और अपशिष्ट (-16.31 प्रतिशत), लकड़ी और लकड़ी के उत्पाद (-14.11 प्रतिशत), कोयला, कोक और ब्रिकेट, आदि (-11.71 प्रतिशत ), कृत्रिम रेजिन, प्लास्टिक सामग्री, आदि (-10.26 प्रतिशत), उर्वरक, कच्चा तेल और निर्मित (-8.3 प्रतिशत ), लोहा और इस्पात (-8.28 प्रतिशत), रासायनिक सामग्री और उत्पाद (-7.69 प्रतिशत), कार्बनिक और अकार्बनिक रसायन (-5.19 प्रतिशत), इलेक्ट्रिकल और गैर-इलेक्ट्रिकल मशीनरी (-3.54 प्रतिशत ), रंगाई/टैनिंग/रंग सामग्री (-2.63 प्रतिशत), लुगदी और बेकार कागज (-2.2 प्रतिशत ) और परिवहन उपकरण (-0.22 प्रतिशत) शामिल हैं।
  • अप्रैल 2023 की तुलना में, अप्रैल 2024 के दौरान सेवा निर्यात में 14.68 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज