AI News World India

Search
Close this search box.

भारतीय मौसम विभाग ने मई 2024 के पहले सप्ताह के लिए मौसम पूर्वानुमान किया जारी

मौसम प्रणालियाँ और पूर्वानुमान एवं चेतावनियाँ:

  • एक चक्रवाती परिसंचरण (साइक्लोनिक सर्कुलेशन) पूर्वोत्तर बांग्लादेश के ऊपर बना हुआ है और निचले क्षोभमंडल (लोअर ट्रोपोस्फेयर) स्तर पर एक ट्रफ रेखा बिहार से नागालैंड तक बनी हुई है। एक अन्य चक्रवाती परिसंचरण निचले क्षोभमंडल स्तर पर पूर्वोत्तर असम पर स्थित है। बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व भारत तक तेज़ दक्षिण-पश्चिमी हवाएँ चल रही हैं। उनके प्रभाव में:
  • अगले 5 दिनों के दौरान अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, सिक्किम, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में सभी स्थानों पर व्यापक रूप से, 01 मई, 2024 को सिक्किम में छिटपुट ओलावृष्टि के साथ हल्की से मध्यम वर्षा/हिमपात के साथ अलग-अलग स्थानों पर गरज और चमक के साथ तेज हवाएं (30-50 किमी प्रति घंटे) चलने की संभावना है।
  • 01-02 मई के दौरान अरुणाचल प्रदेश और असम और मेघालय में तथा 01-03 मई के दौरान नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है; 01 और 02 मई को अरुणाचल प्रदेश और 02 मई 2024 को दक्षिण असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर बहुत भारी वर्षा होगी।
  • 3 मई से एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित कर सकता है। इसके प्रभाव से :
  1. 03-06 मई 2024 के दौरान जम्मू-कश्मीर-लद्दाख-गिलगित-बाल्टिस्तान-मुजफ्फराबाद, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में गरज और बिजली के साथ छिटपुट हल्की से मध्यम वर्षा/हिमपात होने की संभावना है।
  2. 04-06 मई 2024 के दौरान हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, पंजाब, राजस्थान एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर गरज और बिजली गिरने के साथ बहुत हल्की/हल्की वर्षा होने की संभावना है।
  3. 01-03 मई, 2024 के दौरान उत्तर प्रदेश, बिहार और हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में तेज़ सतही हवाएँ (25-35 किमी प्रति घंटे) चलने की संभावना है।
  • दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में वर्षा की गतिविधि होने की संभावना है I 05-08 मई, 2024 के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना, रायलसीमा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल तथा माहे में गरज और बिजली के साथ छिटपुट, हल्की से मध्यम वर्षा होगी।

आगामी 5 दिनों के लिए लू (हीट वेव)गर्म रातों और गर्मी एवं उमस वाले आर्द्र (ह्यूमिड) मौसम की चेतावनी

  • गंगीय पश्चिम बंगाल, पूर्वी झारखंड, उत्तरी ओडिशा और रायलसीमा में 03 मई तक अधिकतम तापमान 44-47 डिग्री सेल्सियस के बीच बने रहने और उसके बाद कम होने की संभावना है।
  • गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगालऔर , झारखंड के अलग-अलग क्षेत्रों में 01-02 मई के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, झारखंड के अलग-अलग इलाकों में 01-02 मई के दौरान कई स्थानों पर लू (हीट वेव) से भीषण लू (सीवेयर हीट वेव) चलने की संभावना है और उसके बाद अगले 3 दिनों के दौरान क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों  में लू की स्थिति रहने के बाद इसकी तीव्रता में कमी आएगी।
  • अगले 3 दिनों के दौरान रायलसीमा के अलग-अलग हिस्सों में लू (हीट वेव) से भीषण लू (सीवेयर हीट वेव) की स्थिति बनी रहने की संभावना है और उसके बाद के 2 दिनों के दौरान भी लू की स्थिति बनी रहने की संभावना है।
  • अगले 4-5 दिनों के दौरान 01 और 02 मई को केरल में 01-03 मई के दौरान तमिलनाडु में लू चलने के साथ ही तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम के अलग-अलग हिस्सों में लू चलने की संभावना है ।
  • 01-05 मई के दौरान कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात राज्य के अलग-अलग हिस्सों में और 03-05 मई के दौरान मराठवाड़ा में लू चलने की संभावना है।
  • अगले 5 दिनों के दौरान तटीय कर्नाटक और केरल और माहे में और 01 मई, 2024 को पश्चिम असम में गर्म और आर्द्र मौसम रहने की संभावना है।
  • छत्तीसगढ़ में 01-03 तारीख को, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में 03-05 मई के दौरान तथा ओडिशा एवं गंगीय पश्चिम बंगाल में 01 तथा 02 मई, 2024 को रात में मौसम के गर्म बने रहने की संभावना है ।
ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज