AI News World India

Search
Close this search box.

वित्त वर्ष 2024 में खनन क्षेत्र में रिकॉर्ड उत्पादन हुआ

फरवरी 2024 के महीने में खनिज उत्पादन का सूचकांक 139.6 था, जो फरवरी 2023 की तुलना में 8.0 प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष 2014 के अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए इस सूचकांक की संचयी वृद्धि पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 8.2 प्रतिशत अधिक रही है। पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में फरवरी 2024 के दौरान सकारात्मक वृद्धि दिखाने वाले कुछ गैर-ईंधन खनिज हैं – बॉक्साइट, क्रोमाइट, तांबा सान्द्र, सोना, जस्ता सान्द्र, मैंगनीज अयस्क, फॉस्फोराइट, हीरा, ग्रेफाइट (आर.ओ.एम.), चूना पत्थर, मैग्नेसाइट, आदि।

मूल्य के आधार पर, कुल एमसीडीआर खनिज उत्पादन में लौह अयस्क और चूना पत्थर की सम्मिलित हिस्सेदारी लगभग 80 प्रतिशत है। अनंतिम आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2024 में देश में इन प्रमुख खनिजों के उत्पादन में उच्च वृद्धि दर्ज की गयी है। वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए लौह अयस्क का उत्पादन 230 मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटी) रहा था, जो वित्त वर्ष 24 की समान अवधि के दौरान 9.6 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 252 एमएमटी हो गया है। संभावना है कि वित्त वर्ष 24 में लौह अयस्क का पूरे वर्ष का उत्पादन वित्त वर्ष 23 के 258 एमएमटी के उत्पादन के रिकॉर्ड को तोड़ देगा। इसी तरह का रुझान दिखाते हुए, वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए चूना पत्थर का उत्पादन 366 एमएमटी से बढ़कर वित्त वर्ष 24 की इसी अवधि के लिए 11.2 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 407 एमएमटी हो गया है और पहले ही वित्त वर्ष 23 में हासिल किये गए 406.5 एमएमटी के पूरे साल के उत्पादन रिकॉर्ड को पार कर चुका है।

अलौह धातु क्षेत्र में, प्राथमिक एल्युमीनियम धातु का उत्पादन वित्त वर्ष 2023 के दौरान अप्रैल-फरवरी की 11 महीने की अवधि के लिए 37.11 लाख टन (एलटी) रहा था, जो बढ़कर वित्त वर्ष 24 की इसी अवधि के दौरान 2.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 38.02 एलटी हो गया है। संभावना है कि वित्त वर्ष 2024 में प्राथमिक एल्युमीनियम का पूरे वर्ष का उत्पादन वित्त वर्ष 2013 के 40.73 एलटी के उत्पादन रिकॉर्ड को तोड़ देगा।

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एल्युमीनियम उत्पादक, तीसरा सबसे बड़ा चूना पत्थर उत्पादक और चौथा सबसे बड़ा लौह अयस्क उत्पादक है। लौह अयस्क और चूना पत्थर के उत्पादन में स्वस्थ वृद्धि उपयोगकर्ता उद्योगों – इस्पात और सीमेंट – में मजबूत मांग की स्थिति को दर्शाती है। एल्युमीनियम में उच्च वृद्धि के साथ, ये विकास रुझान ऊर्जा, अवसंरचना, निर्माण, वाहन और मशीनरी जैसे उपयोगकर्ता क्षेत्रों में मजबूत आर्थिक गतिविधि को इंगित करते हैं।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज