AI News World India

Search
Close this search box.

सीआईएल ने 7 मार्च 2024 तक 703.91 मीट्रिक टन के साथ कोयले का रिकॉर्ड उत्पादन किया

कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने चालू वित्त वर्ष के दौरान 7 मार्च 2024 तक 703.91 मिलियन टन (एमटी) कोयले का रिकॉर्ड उत्पादन किया है, जो पिछले वित्त वर्ष के 703.20 मीट्रिक टन के उत्पादन को 24 दिनों के प्रभावशाली अंतर से पार कर गया है। इसके अतिरिक्त, सीआईएल ने 7 मार्च 2024 तक 72.70 मीट्रिक टन का पर्याप्त कोयला स्टॉक बनाए रखा है।

घरेलू कोयला उत्पादन को बढ़ाने के लिए, कोयला मंत्रालय ने कई पहलों का क्रियान्वयन किया है। खान विकासकर्ता और परिचालक (एमडीओ) मॉडल को अपनाने, भूमिगत (यूजी) और भू-सतह पर खुली (ओसी) दोनों तरह के सीआईएल खानों के मशीनीकरण और आधुनिकीकरण, नई परियोजनाएं शुरू करने, मौजूदा परियोजनाओं का विस्तार करने आदि से कोयला उत्पादन में तेजी आई है। इसके अलावा, बड़े पैमाने पर उन्नत उत्पादन प्रौद्योगिकियों का उपयोग करने और ईआरपी की शुरुआत सहित संचालन के डिजिटलीकरण ने खान दक्षता और उत्पादकता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इसके अलावा, कोयला मंत्रालय ने नीतियां बनाकर और कोयला खनन कंपनियों को आवश्यक सहायता प्रदान करके कोयला क्षेत्र के विकास को सुविधाजनक बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्थायी खनन से जुड़े तौर-तरीकों को बढ़ावा देने, पर्यावरणीय अनुपालन सुनिश्चित करने और कोयला क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने के उद्देश्य से किये गए नीतिगत सुधारों ने कोल इंडिया लिमिटेड की समग्र वृद्धि और सफलता में योगदान दिया है।

यह उपलब्धि न केवल कोल इंडिया लिमिटेड की परिचालन उत्कृष्टता को दर्शाती है, बल्कि ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने और देश में कोयले की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता की भी पुष्टि करती है।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज