AI News World India

Search
Close this search box.

सी-डॉट और क्वालकॉम ने आत्मनिर्भर भारत और डिजाइन और मेक इन इंडिया विजन को आगे बढ़ाने के लिये समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलीमैटिक्स (सी-डॉट), भारत सरकार द्वारा दूरसंचार प्रौद्योगिकी पर केंद्रित एक सार्वजनिक वित्त पोषित अनुसंधान संस्थान, ने स्पेन के बार्सिलोना में हाल ही में संपन्न मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस 2024 में क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज इनकार्पोरेटेड की सहायक कंपनी के साथ सहयोग करने की योजना की घोषणा की। क्वालकॉम इनकार्पोरेटेड, एक रणनीतिक साझेदारी स्थापित करने के लिये भारत में नवाचार को बढ़ावा देगी और अभिनव उत्पादों और उपयोग के मामलों पर काम करने वाले भारत आधारित डेवलपर और स्टार्ट-अप का समर्थन करेगी।
क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज भारतीय स्टार्टअप, अकादमिक और मूल उपकरण निर्माता (ओईएम) को सक्षम करने और स्वदेशी दूरसंचार उत्पादों के विकास और व्यावसायीकरण पर तेजी से नज़र रखने के लिये विशेषज्ञता और सर्वोत्तम प्रथाओं, अत्याधुनिक तकनीक, बौद्धिक संपदा प्रशिक्षण और उपकरणों के साथ सी-डॉट का समर्थन करेगी।
इस सहयोग के माध्यम से, सी-डॉट और क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज निम्नलिखित व्यापक उद्देश्यों की दिशा में काम करेंगे:


स्टार्टअप्स, ओईएम और शिक्षा जगत के लिये मूलभूत चिप प्रौद्योगिकियों और डोमेन विशेषज्ञों तक पहुंच की सुविधा प्रदान करना जो नवाचार को प्रोत्साहित करेगा और उनके अनुसंधान एवं विकास प्रयासों को बढ़ाने में मदद करेगा।


स्वदेशी दूरसंचार उत्पादों और समाधानों के निर्माण में लगे भारतीय स्टार्टअप के व्यावसायीकरण और व्यवसाय विकास की गति में तेजी लाना
 

इस पहल पर अपने संबोधन में डिजिटल संचार आयोग के अध्यक्ष और दूरसंचार विभाग (डीओटी), संचार मंत्रालय के सचिव डॉ. नीरज मित्तल ने कहा, “ भारत के डेवलपर, शिक्षाविद् और स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र देश में नवाचार को बढ़ावा देने में सबसे आगे हैं। अपने देश के अत्याधुनिक अनुसंधान पर अत्यधिक गर्व के साथ, हम दूरसंचार प्रौद्योगिकी में उद्यमशीलता की शक्ति को बढ़ावा देने में क्वालकॉम के साथ खड़े हैं। यह पहल सरकार के डिज़ाइन इन इंडिया और मेक इन इंडिया विज़न के प्रति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रतिबद्धता की पुष्टि करती है, जो अभूतपूर्व नवाचारों को चलाने और दूरसंचार परिदृश्य में भारत के नेतृत्व को आगे बढ़ाने के लिये घरेलू स्टार्टअप की क्षमता को पहचानती है।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज