AI News World India

Search
Close this search box.

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और घरेलू स्टार्ट-अप के सहयोगी प्रयास से रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी

रक्षा सचिव श्री गिरिधर अरमाने ने 10 जनवरी, 2024 को गाजियाबाद में रक्षा लोक सेवा इकाई (डीपीएसयू) भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) के केंद्रीय अनुसंधान प्रयोगशाला (सीआरएल) के अत्याधुनिक सभागार ‘अभिज्ञान’ का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि अभिज्ञान सभागार वैज्ञानिक समुदाय के लिए एक सम्पदा है।

बीईएल के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों के साथ बातचीत करते हुए, रक्षा सचिव ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने की दिशा में उनके प्रयासों की सराहना की। उन्होंने सशस्त्र बलों को अत्याधुनिक तकनीक/उत्पाद प्रदान करने के उद्देश्य से घरेलू स्टार्ट-अप और इनक्यूबेटरों के साथ अधिक सहयोग करने का आग्रह किया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि बीईएल के वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की ओर से और अधिक पहल की जानी चाहिए।

रक्षा सचिव ने कहा कि चूंकि तीनों सेनाओं की संयुक्तता की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं, इसलिए बीईएल यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है कि सशस्त्र बलों और भारतीय तटरक्षक को एकीकृत तरीके से उपकरण/प्रणालियां उपलब्ध कराई जाएं।

अभिज्ञान सभागार में उत्कृष्ट ध्वनि उपकरण, स्मार्ट इंटरफेस, एक बड़ी इंटरैक्टिव डेटा-वॉल और लाइव फीड के लिए व्यापक सुविधाओं वाले तीन कैमरे शामिल हैं। एक साथ प्रस्तुति और प्रदर्शन के लिए दो उच्च रिज़ॉल्यूशन डिस्प्ले भी हैं। सभागार में 250 लोगों के बैठने की क्षमता है और इसका उपयोग उत्पाद डेमो, संगोष्ठी, हैकथॉन, तकनीकी वार्ता और व्याख्यान के लिए किया जाएगा।

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज