AI News World India

Search
Close this search box.

गांधीनगर, गुजरात में वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2024 के उद्घाटन पर प्रधानमंत्री के संबोधन का मूल पाठ

His Excellency Mr. Filipe Nyusi, President of Mozambique, His Excellency Mr. Ramos-Horta, President of President of Timor-Leste, His Excellency Mr. Petr Fiala, Prime Minister of Czech Republic, गुजरात के गवर्नर आचार्य देवव्रत जी, यहां के लोकप्रिय मुख्यमंत्री भूपेंद्र भाई पटेल, देश-विदेश से आए हुए सभी विशेष अतिथि, अन्य महानुभाव, देवियों और सज्जनों!

आप सभी को 2024 की अनेक-अनेक शुभकामनाएं! निकट भूतकाल में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हुए हैं। और अब भारत अगले 25 वर्षों के लक्ष्य पर काम कर रहा है। जब भारत अपनी आजादी के 100 वर्ष मनाएगा, तब तक हमने भारत को विकसित बनाने का लक्ष्य रखा है। और इसलिए ये 25 साल का कार्यकाल, भारत का अमृतकाल है। ये नए सपने, नए संकल्प औऱ नित्य-नूतन सिद्धियों का कार्यकाल है। इस अमृतकाल में ये पहली वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट हो रही है। और इसलिए इसका महत्व और बढ़ गया है। इस समिट में आए 100 से ज्यादा देशों के प्रतिनिधि, भारत की इस विकास यात्रा के अहम सहयोगी हैं। मैं आप सभी का स्वागत करता हूं, अभिनंदन करता हूं।

Friends,

UAE के राष्ट्रपति, मेरे Brother…His Highness शेख मोहम्मद बिन ज़ाएद का इस आयोजन में शामिल होना, हमारे लिए बहुत खुशी की बात है। वाइब्रेंट गुजरात में, इस समिट में उनका यहां चीफ गेस्ट के तौर पर उपस्थित होना भारत और UAE के दिनों-दिन मजबूत होते आत्मीय संबंधों का प्रतीक है। कुछ देर पहले हमने उनके विचार सुने। भारत को लेकर उनका विश्वास, उनका सहयोग, बहुत ही गर्मजोशी से भरा हुआ है। जैसा उन्होंने कहा- वाइब्रेंट गुजरात समिट economic development औऱ investment से जुड़ी जानकारियां और अनुभव साझा करने का global platform बन गई है। इस समिट में भी भारत और UAE ने फ़ूड पार्क्स के विकास के लिए, रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के लिए, इनोवेटिव हेल्थ केयर में निवेश के लिए कई महत्वपूर्ण समझौते किए हैं। भारत के पोर्ट इंफ़्रास्ट्रक्चर में, UAE की कंपनियों द्वारा कई बिलियन डॉलर के नए निवेश पर सहमति बनी है। UAE के सॉवरेन वेल्थ फण्ड द्वारा गिफ्ट सिटी में ऑपरेशंस शुरू किए जाएँगे।  ट्रांसवर्ल्ड कंपनी, यहां एयरक्राफ्ट और Ship Leasing ऐक्टिविटीज़ भी शुरू करने जा रही है। भारत और UAE ने जिस तरह अपने रिश्तों को एक नई ऊंचाई दी है, उसका बहुत बड़ा श्रेय मेरे ब्रदर, His Highness शेख मोहम्मद बिन ज़ाएद को जाता है।

Friends,

मोजाम्बीक के प्रेसिडेंट His Excellency Nyusi से कल भी मेरी बहुत विस्तार से बात हुई है। उनके लिए तो गुजरात आना, पुरानी यादों को ताजा करने जैसा है। President Nyusi, IIM अहमदाबाद के alumni हैं। भारत के लिए गर्व की बात है कि हमारी जी-20 प्रेसिडेंसी में अफ़्रीकन यूनियन को स्थायी सदस्यता मिली। President Nyusi की भारत यात्रा से हमारे सबंधों को तो बल मिला ही है, भारत-अफ़्रीका के बीच घनिष्ठता और बढ़ी है।

साथियों,

चेक के प्रधानमंत्री हिज एक्सेलेंसी पैत्र फियाला जी की ये पहली भारत यात्रा इस पद पर है, वैसे वो भारत पहले भी आए है। चेक लंबे समय से वाइब्रेंट गुजरात समिट से जुड़ा हुआ है। भारत और चेक के बीच टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल्स, मैन्यूफ़ैक्चरिंग जैसे सेक्टर्स में सहयोग लगातार बढ़ रहा है। हिज एक्सेलेंसी पैत्र फियाला, मुझे विश्वास है, आपकी इस यात्रा से दोनों देशों के संबंध और मजबूत होंगे। हमारे यहां कहा जाता है- अतिथि देवो भव:..और प्रधानमंत्री के रूप में आपकी तो ये पहली भारत विजिट है। उम्मीद है, आप बहुत शानदार यादें लेकर यहां से जाएंगे।

Friends,

नोबेल लॉरिएट और Timor-Leste के राष्ट्रपति His Excellency, Ramos-Horta का भी मैं भारत में स्वागत करता हूं। His Excellency, Ramos-Horta का गांधीनगर आना और विशेष है। आपने महात्मा गांधी के Non-Violence के सिद्धांत को अपने देश के स्वतंत्रता संग्राम से जोड़ा है। आशियान और इण्डो-पैसिफ़िक क्षेत्र में Timor-Leste के साथ हमारा सहयोग बहुत अहम है।

Friends,

कुछ समय पहले ही वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट को 20 वर्ष पूरे हुए हैं। बीते 20 वर्षों में इस समिट ने नए ideas को प्लेटफॉर्म दिया है। इसने investments और returns के लिए नए Gateway बनाए हैं। औऱ अब वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट की  इस बार की थीम है- Gateway to the Future…21वीं सदी की दुनिया का future हमारे साझे प्रयासों से ही उज्ज्वल बनेगा। भारत ने अपनी जी-20 presidency के दौरान भी Global Future के लिए एक रोड-मैप दिया है। वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट के इस एडिशन में भी इस विजन को औऱ आगे बढ़ा रहे हैं। भारत, ‘आई – टू – यू- टू’ और दूसरे Multilateral Organisations के साथ partnerships को लगातार मजबूत कर रहा है। One World, One Family, One Future का सिद्धांत, विश्व कल्याण की अनिवार्य आवश्यकता है।

Friends,

आज तेजी से बदलते हुए world order में, भारत, ‘विश्व-मित्र’ की भूमिका में आगे बढ़ रहा है। आज भारत ने विश्व को ये भरोसा दिया है कि हम साझा लक्ष्य तय कर सकते हैं, अपने लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। विश्व कल्याण के लिए भारत की प्रतिबद्धता, भारत की निष्ठा, भारत के प्रयास और भारत का परिश्रम, आज की दुनिया को ज्यादा सुरक्षित और समृद्ध बना रहा है। The world looks at India as: An important pillar of stability, A friend who can be trusted; A partner who believes in people-centric development; A voice that believes in global good; A voice of the Global south; An engine of growth in the global economy. A technology hub for finding solutions. A powerhouse of talented youth. And, a democracy that delivers;

Friends,

भारत के 1.4 बिलियन लोगों की priorities और aspirations, human-centric development पर उनकी आस्था, inclusivity और equality का हमारा कमिटमेंट, विश्व समृद्धि और विश्व के विकास का बहुत बड़ा आधार है। आज भारत, दुनिया की 5th largest economy है। 10 साल पहले भारत 11th पर था। आज दुनिया की हर प्रमुख रेटिंग एजेंसी का अनुमान है कि भारत अगले कुछ वर्षों में दुनिया की टॉप-3 इकॉनॉमी में जाएगा। दुनिया के लोग जो analysis करना है, करते रहें, मेरी गारंटी है कि हो जाएगा। एक ऐसे समय में जब विश्व अनेक अनिश्चितताओं से घिरा हुआ है, तब भारत, दुनिया में विश्व की एक नई किरण बनकर के उभरा है। भारत की प्राथमिकताएं बिल्कुल स्पष्ट हैं। आज भारत की प्राथमिकता है- Sustainable Industry, Infrastructure and Manufacturing, आज भारत की प्राथमिकता है- New Age Skills, Futuristic Technology, AI & Innovation आज भारत की प्राथमिकता है- Green Hydrogen, Renewable Energy, Semi-conductors इसका पूरा इकोसिस्टम, इसकी एक झलक हम Vibrant Gujarat Global Trade Show में भी देख सकते हैं। और मेरा तो आग्रह है कि Trade Show जरूर देखें। गुजरात के भी स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थी जरूर जाएं। कल दिन में मैंने His Excellency Nyusi और His Excellency, Ramos-Horta  जी के साथ इस ट्रेड शो में काफी समय गुजारा है। इस ट्रेड शो में कंपनियों ने World Class State of the art technology से बने Products का निर्देशन किया है। E-Mobility, Start-Ups, Blue Economy, Green Energy और Smart Infrastructure जैसे Trade Show में एक प्रकार से छाए हुए हैं। ये जितने भी सेक्टर्स हैं, इनमें Investment के लिए आपके पास लगातार नए अवसर बन रहे हैं।

साथियों,

आप सभी वैश्विक परिस्थितियों से भली-भांति परिचित हैं। ऐसे में, आज अगर भारत की इकॉनॉमी में इतना resilience दिख रहा है, अगर आज भारत की Growth में इतना momentum दिख रहा है, तो इसके पीछे बड़ी वजह है, बीते 10 वर्षों में structural reforms पर हमारा फोकस! इन reforms ने भारत की इकॉनॉमी की capacity, capability और competitiveness बढ़ाने का बहुत बड़ा काम किया है।

Recapitalisation और IBC से हमने भारत के बैंकिंग सिस्टम को दुनिया के सबसे मजबूत बैंकिंग सिस्टम्स में से एक बना दिया है। Ease of doing business पर जोर देते हुए हमने 40 हज़ार से ज्यादा compliances को समाप्त कर दिया है। GST ने भारत में टैक्स के अनावश्यक जाल को खत्म किया है। भारत में हमने Global supply chain के diversification के लिए बेहतर माहौल बनाया है। हाल में ही हमने 3 FTA साइन किए हैं, ताकि global business के लिए भारत औऱ attractive destination बन सके। इनमें से एक FTA तो UAE के साथ ही हुआ है। हमने अनेक सेक्टर्स को automatic route  से FDI के लिए open किया है। आज भारत इंफ्रास्ट्रक्चर पर रिकॉर्ड इंवेस्ट कर रहा है। पिछले 10 वर्ष में भारत का capex, 5 गुणा अधिक हो चुका है।

Friends,

भारत आज ग्रीन एनर्जी और alternative energy sources को लेकर भी अभूतपूर्व गति से काम कर रहा है। भारत की Renewable energy capacity 3 गुणा बढ़ी है औऱ सोलर एनर्जी कैपेसिटी में 20 गुना वृद्धि हुई है। डिजिटल इंडिया मिशन ने भारत में life और business, दोनों को ट्रांसफॉर्म कर दिया है। 10 वर्षों में सस्ते फोन और सस्ते डेटा से digital inclusion की नई क्रांति आई है। हर गांव तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाने का अभियान, 5G का तेज़ी से विस्तार आम भारतीयों का जीवन बदल रहा है। आज हम दुनिया में तीसरे बड़े स्टार्ट अप इकोसिस्टम हैं। 10 वर्ष पहले तक भारत में कुछ 100 स्टार्ट-अप्स थे। आज भारत में 1 लाख 15 हज़ार रजिस्टर्ड स्टार्ट-अप्स हैं। भारत के Overall export में भी रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है।

Friends,

भारत में जो ये बदलाव आ रहा है, वो भारत के नागरिकों की Ease of Living भी बढ़ा रहा है, उन्हें Empower कर रहा है। हमारी सरकार के 5 वर्षों में साढ़े 13 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर निकले हैं। भारत में मिडिल क्लास की एवरेज इनकम लगातार बढ़ रही है। भारत में Female Workforce के participation में भी रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। भारत के भविष्य के लिए ये बहुत अच्छे संकेत हैं। और इसलिए, मैं आप सभी का आह्वान करूंगा कि भारत की इस विकास यात्रा से जुड़िए, हमारे साथ चलिए।

साथियों,

Logistics को लेकर, Ease of Transportation के लिए भी भारत में आधुनिक पॉलिसीज पर काम हो रहा है। 10 साल पहले भारत में 74 Airports थे। आज भारत में 149 Airports हैं। भारत का नेशनल हाईवे नेटवर्क पिछले 10 सालों में करीब-करीब दोगुना हो चुका है। 10 सालों में हमारा मेट्रो ट्रेन नेटवर्क 3 गुना से ज्यादा बढ़ चुका है। गुजरात हो, महाराष्ट्र हो या फिर हमारी ईस्टर्न कोस्टलाइन हो, इनको आज डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर से जोड़ा जा रहा है। भारत में आज अनेक नेशनल वॉटरवेज़ पर एक साथ काम चल रहा है। भारतीय पोर्ट्स का टर्नअराउंड टाइम आज बहुत कंपीटिटिव हो गया है। जी-20 के दौरान जिस India-Middle East-Europe Economic Corridor की घोषणा हुई है, वो भी आप सभी इंवेस्टर्स के लिए बहुत बड़ी बिजनेस Opportunity है।

Friends,

भारत के कोने-कोने में आपके लिए नई संभावनाएं हैं। वाइब्रेंट गुजरात समिट इसके लिए भी एक गेटवे की तरह है- Gateway to the Future औऱ आप भारत में सिर्फ इन्वेस्टमेंट ही नहीं कर रहे, बल्कि young Creators और Consumers की एक नई जेनरेशन को भी शेप कर रहे हैं। भारत की aspirations से भरी young generation के साथ आपकी partnership को वो results लाकर दिखा सकती है, जिसकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। और इसी विश्वास के साथ, एक बार फिर आप सभी का वाइब्रेंट गुजरात समिट से जुड़ने के लिए मैं ह्दय से बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं। और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपके सपने ‘ये मोदी का संकल्प है’। आपके सपने जितने बड़े होंगे, मेरा संकल्प भी उतना ही बड़ा होगा। आइए सपने देखने के अवसर अनेक हैं, संकल्प पूरा करने का सामर्थ्य भी मौजूद है।

बहुत-बहुत धन्यवाद !

ainewsworld
Author: ainewsworld

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज